भारतीय संविधान | Indian Constitution

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हम इस आर्टिकल में आप सभी को भारतीय संविधान gk in hindi का कुछ महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे जो आपके Indian Constitution Gk के general knowledge सीखने और याद करने में मदद करेगी | इस Indian Constitution GK में किसी भी प्रकार की लिखावट मे गलती या प्रश्न उत्तर में गलती होने पे हमें खेद होगी अतः उस गलती को कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताये | धन्यवाद

सभी तरह के प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे SSC, IBPS Clerk, IBPS PO, RBI, RRB, CTET, TET, BED, UPSC इत्यादि में भारतीय संविधान से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। यहाँ भारतीय संविधान gk के सभी महत्वपूर्ण जानकारी को Listed किया गया है जो भारतीय संविधान gk संबंधित जानकारी बढ़ाने में उपयोगी हो सकती है।

डेली इंडिया Gk व्हाट्सप्प ग्रुप में पाये

भारतीय संविधान | Indian Constitution

  • 1946 चुनाव कैबिनेट मिशन पहला पैट्रिक लॉरेंस |
  • दूसरा एवी एलेग्जेंडर तीसरा स्टाफोर्ड क्रिप्स |
  • 19 सॉन्ग मालिक क्रांति चुनाव संवैधानिक सभा |
  • राज्यों में 296 रजवाड़ों में 93 |

संविधान सभा का नाम सबसे पहले एमएन रॉय ने दिया था |

संवैधानिक सभा राज्य 296 सदस्य निर्वाचित रजवाड़े 93 सदस्य मनोनीत निर्वाचित में मुस्लिम लीग 73 लोग कांग्रेस में 208 लोग और अन्य में 135 लोग शामिल थे |

संविधान सभा में पहली बैठक 9 दिसंबर 1946 को हुई जिसमें 211 सदस्य शामिल हुए परंतु एमएलए इस सभा का बहिष्कार कियारजवाड़ों की सदस्य ने भी इस सभा का बहिष्कार कर दिया |

इस सभा के सबसे पहले अध्यक्ष डॉ सच्चिदानंद सिन्हा है |

इसके बाद चुनाव करवाया गया है एवं संवैधानिक सभा के पहले निर्वाचित अध्यक्ष डॉ राजेंद्र प्रसाद बने |
इस सदस्य के दो उपाध्यक्ष थे-

  1. एचसी मुखर्जी
  2. वी टी कृष्णमाचारी

13 दिसंबर 1946 को पंडित जवाहरलाल नेहरू ने उद्देश्य संकल्प दिया |इसे 22 जनवरी 1947 को पारित कर दिया

जब भी इस सभा में संवैधानिक सभा निर्माण करना चाहता था तब पीएम अध्यक्ष डॉ राजेंद्र प्रसाद सिन्हा हुआ करते थे जब इस सभा में विधायकी कार्य करते रहते थे तब इसके अध्यक्ष जी पी मावलंकर जी थे

संविधान बनाने के लिए संवैधानिक सभा को अलग-अलग समितियों में बांट दिया गया जिसमें 8 बड़ी वह 11 छोटी सभाएं थी
जिनमें से प्रमुख है

समिति   और   अध्यक्ष

  1. ड्राफ्टिंग समिति डॉक्टर भीमराव अंबेडकर
  2. केंद्रीय संवैधानिक समिति जवाहरलाल नेहरू
  3. राज्य संवैधानिक समिति जवाहरलाल नेहरू
  4. क्रांति संवैधानिक समिति सरदार वल्लभभाई पटेल
  5. मौलिक अधिकारों पर समिति सरदार वल्लभभाई पटेल

भारत का संविधान सबसे पहले प्रेम बिहारी द्वारा अंग्रेजी में लिखा गया इस संविधान को हिंदी में बसंत किशन वेद में लिखा |

  • आजादी के बाद से विधानसभा में 299 सदस्य थे
  • 22 जुलाई 1947 को राष्ट्रीय ध्वज अपनाया गया
  • 24 जनवरी 1950 को राष्ट्रगान अपनाया गया

राष्ट्रीय गीत एवं राष्ट्रगान अपनाया गया

प्रस्तावना
SSS DR JLEF DUI

संप्रभुता : भारत अपने आंतरिक व बाहरी निर्णय लेने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र है |

समाजवादी : गांधीवाद को मानते हैं |

धर्मनिरपेक्ष : शब्द धर्म को मानते हैं एक धर्म को मानते हैं जैसे पाकिस्तान कोई धर्म को नहीं मानते जैसे साउथ अफ्रीका |
प्रजातंत्र लोकतंत्र :
गणतंत्र : प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष |
न्याय : सामाजिक आर्थिक राजनीतिक |
स्वतंत्रता : पांच प्रकार की स्वतंत्रता है विचार विश्वास धर्म अभिव्यक्ति उपासना |
समानता : दो प्रकार की समानताएं होती है प्रतिष्ठा और अवसर |
बंधुत्व : भाईचारा

गौरव-
एकता देश के लोगों के बीच एकता
अखंडता देश के क्षेत्र में अखंडता
प्रस्तावना के स्रोत हम भारत के लोग
प्रस्तावना की प्रकृति sss dr
प्रस्तावना के उद्देश्य jlef dui

प्रस्तावना की तारीख 26 नवंबर 1949 |1960 बेरूबरु के संविधान का अंत नहीं है

13 साल बाद 1963 केसवानंद भारती केस संविधान का अंग है |
1995 भारतीय जीवन निगम संविधान का अंग है |
भारत का संविधान पहचान पत्र के नाम से भी जाना जाता है संविधान को परिचय भी कहा जाता है संविधान को शाराम भी कहा जाता है |

वैदिक काल नोट्स

संविधान के स्रोत संविधान के स्रोत दो प्रकार के होते हैं –

पहला लिखित

दूसरा लिखित लिखित में इंडिया आता है और अंकित में ब्रिटिश इंडिया सबसे बड़ा संविधान भारत का है ब्रिटिश में ऐसा संविधान जिसे हम इजली चेंज कर सकते हैं

1.पहला ऑस्ट्रेलिया – ट्रेड एंड कॉमर्स व्यापार एवं वाणिज्य

दूसरा थर्ड लिस्ट – समवर्ती सूची पहला केंद्र सूची दूसरा राज्य सूची

तीसरा समवर्ती सूची लैंग्वेज ऑफ प्रियम बल प्रस्तावना की भाषा

चौथा संयुक्त बैठक जॉइन सेटिंग

2. दूसरा जर्मनी

जर्मनी को हम हिटलर से याद कर सकते हैं |

पहला आपातकाल के दौरान मौलिक अधिकारों का हनन

3.तीसरा क्रांति स्वतंत्रता समानता गणतंत्र आत्मक राज्य

4. चौथा साउथ अफ्रीका

साउथ अफ्रीका को हम गांधी जी के नाम से याद रख सकते हैं |

पहला संविधान में संशोधन करने की प्रक्रिया दूसरा राज्यसभा में सदस्यों का निर्वाचन

4. चौथा जापान

जापान को जान पान से याद किया जा सकता है |

जैसे जान से जीने का अधिकार और पांसे विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया

रसिया पहला पंचवर्षीय योजनाएं दूसरा मौलिक कर्तव्य तीसरा नए प्रस्तावना में

ब्रिटेन पहला संसदीय शासन दूसरा विधि द्वारा शासन तीसरा विधाई प्रक्रिया चौथा एकल नागरिकता पांचवा मंत्रिमंडल प्रणाली छठा विश्वा संवाद सातवा रेट

आठवां अमेरिका

पहला मूल अधिकार दूसरा उच्चतम एवं एवं उच्चतम न्यायाधीशों को हटाना तीसरा न्यायपालिका की स्वतंत्रता चौथा उपराष्ट्रपति का पांचवा राष्ट्रपति को पद से हटाना छठा न्यायिक पुनरावलोकन

आयरलैंड RED

डीजे राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत किसे राष्ट्रपति का चुनाव हार से राज्यसभा में नामांकन
कनाडा अपशिष्ट सूची संविधान व्यवस्था किसान सशक्त केंद्र उच्च न्यायालय की परमशक्ति चौथा राज्यपाल नीतू केंद्र द्वारा
चंडी तंत्र राज्यपाल न्यायपालिका लोक सेवा आयोग आपातकालीन उपबंध प्रशासनिक वितरण विवरण